PM KUSUM Yojana (PMKY), Online Registration: प्रधानमंत्री कुसुम योजना, ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

PM KUSUM Yojana apply online | कुसुम योजना | PM kusum yojana solar pump | PM kusum yojana online registration

भारत सरकार के नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) द्वारा प्रधान मंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा को शुरू कर दिया गया है जिसके अन्तगर्त किसान भाइयों को सोलर पंप लगाने के लिए सब्सिड़ी प्रदान की जाएगी। ये सब्सिडी डीज़ल पंप और इलेक्ट्रिक ग्रिड पंप को बदल कर सौर ऊर्जा संचालित पंप लगाने पर भी प्रदान की जाएंगी। इस योजना में राज्य सरकार,केंद्र सरकार और बिजली कम्पनियाँ मिल कर कर काम करेगी। इसके किसान अपनी बंजर भूमि पर पर सौर ऊर्जा यंत्र लगा कर सरप्लस बिजली या power supply बिजली वितरण कंपनियों को बेच भी सकते है। सरकार का लक्ष्य 2022 तक 27 लाख से अधिक पम्पों को सौर पंप में बदलने का है।

यह योजना का लाभ किसान भाई कैसे ले सकते है और kusum yojana apply कैसे करना होगा और योजना के तहत कितनी सब्सिडी किसानों को प्रदान की जाएगी ये सब इस आर्टिकल में बताया गया।

प्रधानमंत्री कुसुम योजना – PM KUSUM Yojana

Pradhan Mantri Kisan Urja Suraksha evam Utthaan Mahabhiyan (PM-KUSUM) कुसुम योजना में देश के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के अनुसार योजना के तहत 27 लाख किसानों को स्टैंडअलोन सौर पंप की पेशकश की जाएगी। इसके अलावा, किसानों को बंजर भूमि पर सौर ऊर्जा उत्पन्न करने और ग्रिड को अतिरिक्त बिजली बेचने में मदद मिलेगी।

योजना के अंतर्गत ग्रिड से जुड़े कृषि पंप वाले किसान सोलराइज पंप के लिए आवेदन कर सकेंगे। इसमें अभी ग्रिड से प्रदान की गयी KW क्षमता से दुगनी क्षमता के सौर पंप प्रदान किये जायेगे ,जिसके साथ किसान अपनी सौर ऊर्जा का उपयोग करने में सक्षम हो सकेंगे और अधिशेष सौर ऊर्जा को बेचकर अतिरिक्त आय प्राप्त कर सकेंगे।

इस योजना के तहत 7.5 एचपी तक के पंप क्षमता के 10 लाख बिजली संचालित कृषि पंपों को 2022 तक सौर ऊर्जा पंप में परिवर्तन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

PM kusum yojana objective – कुसुम योजना के उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य सौर ऊर्जा संचालित पंप को बढ़ावा देना और सौर ऊर्जा से उत्पन बिजली से देश में बिजली की कमी को पूरा करना है। इस योजना ने न केवल किसानो को फायदा होगा बल्कि आमजन को भी बिजली वितरण कंपनियां बिजली प्रदान कर सकेगी। एक और जहाँ सरप्लस बिजली किसान बेच सकेंगे वही बिजली और बारिश की कमी से उन्हें निजात मिलेंगे। बंजर भूमि और उपयोग में न ली गयी भूमि पर भी सोलर सिस्टम लगा कर किसान भाई अपनी आय में वृद्वि कर सकेंगे।

Kusum-Yojana

कुसुम योजना के लाभ और लक्ष्य

  • KUSUM Yojana में कुल लागत का केवल 10 प्रतिशत किसानो से लिया जायेगा। जिसमें वो 0. 5 मेगावाट से 2 मेगावाट तक के पंप लग सकते है।
  • योजना के तहत 48 हज़ार करोड़ केंद्र सरकार द्वारा खर्च किये जाएंगे वही इतनी राशि राज्य सरकारों द्वारा भी खर्च की जाएगी। योजना की कुल खर्च रही 1. 40 करोड़ रखी गयी है।
  • कोई भी किसान अपने खेत की बंजर भूमि खाली जमीन ,दलदली जमीन पर सोलर सिस्टम लगाने के लिए आवेदन कर सकता है और बिजली वितरण कंपनियों को बिजली बेच कर अपनी आय में वृद्धि कर सकता है।
  • इस सरकारी योजना में राजस्थान के कई किसान शामिल हो चुके है और जिसके लिए राजस्थान सरकार ने बजट भी आवंटन कर दिया है। जिसमें 674 किसानों ने 815 मेगावॉट क्षमता के सौर सिस्टम लगाने के लिए आवेदन किया है।
  • योजना के तहत सरकार किसानों को 60% की सब्सिडी प्रदान करेगी और लागत का 30% ऋण के रूप में बैंक द्वारा जाएगा।
  • इसके लागु होने से कृषि में डीज़ल पम्पों से निकलने वाले कार्बन की मात्रा को कम करने में भी मदद मिलेंगी और किसानो की आय में वृद्वि के साथ साथ बिजली की आपूर्ति किसी भी समय प्राप्त हो सकेंगी।

Key Points

Key Points
Name of the SchemePM KUSUM Yojana
Run ByMinistry of Renewal Energy and Agriculture Department
Beneficial forFarmers
Run ByDepartment of Administrative Reforms, Rajasthan
BenefitsSubsidy on Solar Power System Installation
Official Websitehttps://mnre.gov.in/
NotificationPM KUSUM yojana official Notification Link

Component under PM KUSUM Yojana

Component -A

  • योजना के तहत 10,000 मेगावाट के सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना की जाएगी जो बंजर भूमि पर ग्रिड से जुड़े हैं।
  • ये ग्रिड किसानों, सहकारी समितियों, किसानों के समूह, पंचायतों, WUA और किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) द्वारा स्थापित किए जाएंगे।
  • विद्युत परियोजनाओं को Sub station के 5 किलोमीटर के दायरे में सेटअप किया जाएगा ताकि सयंत्र को ग्रिड से जोड़ा जा सके।

Component -B

  • कुसुम योजना के तहत किसानों को सौर कृषि पंप स्थापित करने के लिए सहयोग किया जायेगा जिसकी लगत लगभग 17.50 लाख होगी।
  • इन पंपों की क्षमता 7.5 एचपी तक होगी जो डीजल पंप को replace करेंगे।
  • क्षमता 7.5 एचपी से अधिक हो सकती है लेकिन वित्तीय सहायता केवल 7.5 एचपी की क्षमता प्रदान की जाएगी।

Component -C

  • KUSUSM yojana के अंतर्गत 10 लाख ग्रिड से जुड़े कृषि पंपों को सोलराइजेशन के लिए किसानों के लिए सहयोग किया जाएगा।
  • पूर्व निर्धारित रेट पर पर भारत की वितरण कंपनियों (DISCOMs) को अतिरिक्त सौर ऊर्जा बेची जा सकेगी।
  • सौर ऊर्जा का उपयोग करके किसान की सिंचाई की जरूरतों को पूरा किया जाएगा।

कुसुम योजना में आवेदन करने के लिए जरुरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • आय प्रमाण पत्र
  • जमीन की डिटेल
  • पता प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो

पी एम योजना में आवेदन – How to do PM KUSUM yojana online registration

इस योजना में आवेदन चेक करने के लिए आपको आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना। इसकी वेबसाइट के बारे में हमने Key points में बताया है। इस वेबसाइट को ओपन करने पर आपको Menu में Solar पेज पर विजिट करना होगा।

Solar off Grid में आपको योजना के बारे में जानकारी मिल जाएगी।

सोलर पंप आवेदन राजस्थान

कुसुम योजना में राजस्थान में आवेदन करने के लिए स्टेट government ने वेबसाइट लांच की है जो Rajasthan renewable energy corporation Ltd द्वारा बनायीं गयी है।

  • राजस्थान प्रदेश में kusum yojana में apply करने के लिए बताई गयी वेबसाइट पर विजिट कर New Registration पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद अगला पेज खुलने पर आपके सामने एक registration form खुलेगा। ये KUSUM yojana application form है जो आपको योजना लाभ लेने भरना होगा।

PM-KUSUM-Yojana

  • ये फॉर्म आपको नीचे दिए गए फॉर्म जैसा होगा जहाँ आपसे इस योजना का “कुसुम कंपोनेंट-A के अंतर्गत लीज की भूमि अथवा स्वयं की भूमि पर सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने हेतु विकासकर्ताओ का पंजीकरण” करना होगा।
  • Application form में आपको नाम पता आधार डिटेल्स ,जमीन की जानकारी आदि भरनी होगी। जानकारी भरने के बाद सबमिट पर क्लिक करे और आवेदन क्रमांक नोट कर ले। कुछ दिनों बाद आपसे संपर्क कर सोलर प्लांट लगा दिया जायेगा।
  • जयपुर ,जोधपुर और अजमेर में कुसुम योजना के अंतर्गत सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने के लिए सब स्टेशन की लिस्ट भी आप ऑनलाइन चेक कर सकते है। ये लिस्ट देखने के लिए आप नीचे दिए लिंक कर सकते है जिसमें बताये गए शहरों में किसानो के लिए सब-स्टेशन का कार्य या तो कर दिया गया है या प्रगति में है

Details of all Rural 33 kV Sub-Stations for Solar Power Plants Installation by the farmers under KUSUM Component-A

Helpline details

यदि आप योजना में किसी प्रकार की साहयता चाहते है तो आप नीचे दिए गए आधिकारिक नम्बरों पर भी संपर्क कर सकते है ये योजना से जुड़े फ़ोन नंबर है। फ़ोन अधिकारी द्वारा आपकी पूरी सहायता की जाएगी।

  • Contact No: 011-2436-0707, 011-2436-0404
  • PM KUSUM टोल फ्री नंबर : 1800-180-3333
  • आधिकारिक वेबसाइट : www.mnre.gov.in

Conclusion

यह योजना ग्रामीण भूमि मालिकों को उनकी सूखी / गैर-उपयोगी भूमि पर सोलर सिस्टम लगाने पर 25 वर्षों की अवधि के लिए आय का एक स्थिर और निरंतर स्रोत खोलेगी। इसके अलावा अगर सौर ऊर्जा परियोजना स्थापित करने के लिए खेती योग्य खेतों को चुना जाता है, तो किसान फसलों को उगा सकते हैं क्योंकि सौर पैनल न्यूनतम ऊंचाई से ऊपर स्थापित किये जायेगे।

सभी किसान भाई ध्यान दे kusum yojana में apply करने के लिए सही वेबसाइट का चयन करे इस योजना में काफी धोका धड़ी की खबर भी है। इसकी आधिकारिक वेबसाइट www.mnre.gov.in ही है। और राज्य अपनी अपनी वेबसाइट पर हे आवेदन स्वीकार कर रहे है। योजना में सहयोग के लिए आप CSC सेवा केंद्र पर भी विजिट कर सकते है।

Click for Related Article

मनोहर ज्योति योजना हरियाणा (Manohar Jyoti Yojana ) आवेदन कैसे करे।

किसान उदय योजना उत्तर प्रदेश

Frequently Asked Question
PM KUSUM yojana क्या है ?

नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) द्वारा कृषि मत्रांलय के साथ चलायी जा रही सोलर ऊर्जा योजना योजना है जिसके तहत किसानो को सोलर सिस्टम अपनी जमीन पर लगाने के लिए अनुदान दिया जाता है।

योजना से जुडी अधिकारिक वेबसाइट कौन सी है ?

इस योजना से जुडी आधिकारिक जानकारी के लिए आप Ministry of New & Renewable Energy की वेबसाइट mnre.gov.in पर विजिट कर सकते है।

कुसुम योजना के लिए हेल्पलाइन नंबर कौन सा है ?

योजना में किसी सहायता के लिए आप टोल फ्री नंबर 1800-180-3333 पर संपर्क कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *