MP Bhavantar Bhugtan Yojana Registration & Application Form | एमपी भावांतर योजना

एमपी राज्य में रहने सभी किसानों को उनकी फसल का पूरा लाभ मिले इसके लिए मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह जी की सरकार ने भावांतर भुगतान योजना

की शुरुआत की है। इस योजना के तहत प्रदेश के किसानों को उनकी फसल का पूरा मूल्य मिल सकेगा। मंडी में जिस मूल्य पर किसान की फसल की बिक्री हुई है और जो फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) है इन दोनों के बीच में जितना अंतर् होगा उतनी राशि सरकार किसानों के बैंक अकाउंट में  भेजेगी। किसान अगर मंडियों में अपनी फसल को MSP से कम मूल्य पर बेचता है तो उसके नुकसान की भरपाई इस योजना के अंतर्गत की जाएगी। आज इस आर्टिकल में हम भावांतर भुगतान योजना रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन फॉर्म, दस्तावेज, पात्रता आदि जानकारी पढ़ेंगे।

MP Bhavantar Bhugtan Yojana 2022 – 2023

मंडी में आये दिन फसलों के भाव घटते बढ़ते रहते है जिस कारण अक्सर किसानों  को उनकी फसल का उचित मूल्य नहीं मिल पाता। फसलों की कीमत कम होने की स्थिति में न्यूनतम समर्थन मूल्य और बाजार भाव के बीच जो अंतर् होगा वो एमपी भावांतर भुगतान योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने वाले किसानों के बैंक खातों में ट्रांसफर किया जायेगा।

अगर किसी किसान की फसल की बिक्री बाजार में 2500 रुपये प्रति क्विंटल हुई है और उस फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य 3000 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित हुआ है तो किसान के 500 रुपये नुकसान की भरपाई भावांतर भुगतान योजना के तहत किसान के बैंक खाते में की जाएगी।

पिछले 5 सालों में लगभग 118 लाख किसान इस योजना में मिनिमम सपोर्ट प्राइस (MSP) के लिए पंजीकृत हुए है और इनमें से लगभग 2415 लाख मीट्रिक टन आनाज 64 लाख से अधिक किसानों से MSP पर खरीद कर 69111 करोड़ की राशि सीधे किसानों के खातों में भेजी गयी है।

उपार्जन वेबसाइट पोर्टल के जरिये मध्य प्रदेश सरकार किसानों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का अवसर दे रही है। इस ऑफिसियल वेबसाइट पर किसान ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते है। रजिस्ट्रेशन के समय एक बात का विशेष ध्यान रखना जरुरी है की बैंक अकाउंट आवेदक के नाम से होना चाहिए और  आधार कार्ड बैंक खाते से लिंक होना चाहिए।

एमपी भावांतर योजना में शामिल फसलें

शुरुआती चरण में इस योजना में सिर्फ 8 फसलों को शामिल किया गया था जिनमें दाल और तेल वाली फसलें शामिल की गयी थी पर वर्ष 2018 के बाद अब इस योजना के अंतर्गत कुल 13 फसलों का MSP किसानों तक पहुंचाया जा रहा  है।

  • धन, मूंग, उड़द और तूर दाल खरीफ की वे फसलें है जो पहले न्यूनतम समर्थन मूल्य में शामिल की गयी थी। अब खरीफ की फसलों में मूंगफली, मक्का, ज्वार, तिल, सोयाबीन, रामतिल और बाजरा शामिल है।
  • एमपी भावांतर योजना (MP Bhavantar Bhugtan Yojana) में अब तूर दाल, ज्वार, तिल, चावल, कपास, उड़द, बाजरा, सोयाबीन, मक्का, गेहूं, रामतिल,  मूंग और कपास आदि कुल 13 फसलें शामिल की गयी है।

CLick here for MP E uparjan Portal

मध्य प्रदेश भावांतर भुगतान योजना के दस्तावेज

  • आवेदन करने वाला व्यक्ति राज्य का किसान होना चाहिए।
  • मध्य प्रदेश का स्थाई नागरिक होना अनिवार्य है।
  • आवेदक के पास मग्र आईडी होनी चाहिए।
  • रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए मोबाइल नंबर चाहिए।
  • आवेदन के लिए आधार कार्ड, पहचान पत्र, पासपोर्ट साइज फोटो।
  • मध्य प्रदेश का स्थाई निवास प्रमाण पत्र।
  • किसान के नाम से उसक बैंक अकाउंट नंबर होना जरुरी है।
  • सिकमी / पट्टा भूमि में प्राधिकरण का पत्र होना अनिवार्य होगा।
  • मूल भूमि मामले में मालिक की ऋण पासबुक चाहिए।

MP Bhulekh Dekhe

एमपी भावांतर भुगतान योजना 2022-23 में रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

मध्य प्रदेश राज्य के जो इच्छुक किसान भावांतर योजना में पंजीकरण करना चाहते है वे सबसे पहले ऊपर बताये गए दस्तावेज एकत्रित कर ले। इसके बाद ई उपार्जन की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाये।

  • MP Bhavantar Bhugtan Yojana वेबसाइट के होम पेज पर आपको खरीफ 2022-23 का ऑप्शन दिखेगा। इस ऑप्शन पर क्लिक करें। इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज आ जायेगा।

MP-e-uparjan

  • अब आप को खरीफ उपार्जन वर्ष 2022-23 हेतु किसान पंजीकरण का ऑप्शन दिखेगा जिसपर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर एक फॉर्म आ जायेगा।
  • फॉर्म में आपको सबसे पहले आवेदक के पंजीकरण के प्रकार का चयन करना है। इसके बाद आधार नंबर और चित्र में दिख रहे कोड को बॉक्स में टाइप करे और अंत में पंजीयन करे के ऑप्शन पर क्लिक करे।
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी हुई सारी जानकारी भरने के बाद सबमिट के बटन पर क्लिक करे दे। आपकी पंजीकरण पूरी हो गयी है।  

भावांतर योजना रजिस्ट्रेशन स्टेटस कैसे चेक करें ( Registration Status Check )

  • मध्यप्रदेश भावांतर योजना में रजिस्ट्रेशन करने के बाद इसका स्टेटस भी ऑनलाइन चेक कर सकते है। इसके लिए सबसे पहले  ई-उपार्जन की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएं।
  • वेबसाइट के होम पेज पर खरीफ 2022-23 के ऑप्शन पर क्लिक कर दे। इसके बा एक नया पेज आएगा जहां आपको किसान पंजीयन/आवेदन सर्च के विकल्प का चयन करना है।

MP bhavanatar bhugtan

  • अब आप अपने मोबाइल नंबर, किसान कोड, समग्र नंबर और चित्र में दिख रहे कोड को बॉक्स में टाइप करके सर्च करें के बटन पर क्लिक कर दे। आपके रजिस्ट्रेशन का स्टेटस आपकी स्क्रीन पर आ जायेगा।
ऑफलाइन पंजीकरण कैसे करें

एमपी भावांतर भुगतान योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के इलावा ऑफलाइन पंजीकरण का विकल्प भी मौजूद है। राज्य के जो किसान किसी कारणवश ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते वे अपने नजदीकी किसी ब्लॉक कार्यालय, पंचायत के कार्यालय या डिस्ट्रिक्ट ऑफिस जा कर एप्लीकेशन फॉर्म ले सकते है।

ई-उपार्जन पोर्टल पर जा कर भी भावांतर योजना का एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड कर सकते है। फॉर्म में आपको आवेदन करने वाले का नाम, आयु, बैंक अकाउंट नंबर, आधार नंबर और जमीन से संबंधित जानकारी लिखनी ह और पासपोर्ट साइज फोटो लगा कर मंडी सेण्टर या ई-उपार्जन केंद्र में जमा करवा दे।

खरीफ की फसल 2022 के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP)

तूर दाल – 5,675 रु / क्विंटल
मूँग दाल – 6,975 रु / क्विंटल
तिल – 5,675 रु / क्विंटल
बाजरा – 1950 रु / क्विंटल
धान – 1750 रु / क्विंटल
अरहर की दाल – 5675 रु / क्विंटल
रामतिल – 5,877 रु / क्विंटल
मूँगफली – 4,890 रु / क्विंटल
उड़द – 5,600 रु / क्विंटल
ज्वार मालडंडी – 2450 रु / क्विंटल
ज्वार हाईब्रिड – 2430 रु / क्विंटल
धान ग्रेड ए -1770 रुरु / क्विंटल
कपास लंबा रेसा – 5450 रु / क्विंटल (500 रुपए प्रति क्विंटल भावांतर दिया जायेगा)
सोयाबीन – 3,399 रु / क्विंटल (500 रुपए प्रति क्विंटल भावांतर दिया जायेगा)
कपास मध्यम रेसा – 5150 रु / क्विंटल (500 रुपए प्रति क्विंटल भावांतर दिया जायेगा)
मक्का – 1,700 रु / क्विंटल (500 रुपए प्रति क्विंटल भावांतर दिया जायेगा)

रबी की फसल 2022 के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य

गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य – 2000 रु / क्विंटल
चना का समर्थन मूल्य – 4,400 रु / क्विंटल
सरसों – 4,000 रु / क्विंटल
तुअर – 3860 रु / क्विंटल
मसूर – 4,250 रु / क्विंटल
लहसुन – 3200 रु / क्विंटल
प्याज का न्यूनतम समर्थन मूल्य – 8 रु / क्विंटल

दोस्तों एमपी भावांतर भुगतान योजना 2022-23 के इस आर्टिकल में हम ने योजना का उद्देश्य, लाभ, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड, ऑफलाइन पंजीकरण और खरीफ व रबी की फसल के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) के  विस्तार में जाना है। अगर आप मध्य प्रदेश के किसान है और इस योजना में आवेदन करना चाहते है तो जल्दी से फॉर्म भरे और योजना का लाभ ले। इसके अतिरिक्त अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है तो कमेंट करके बताये और अपने साथियों के साथ इस योजना को शेयर करे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *