आईएएस और आईपीएस कैसे बनें ? | How to Become IAS IPS

आईएएस और आईपीएस कैसे बनें ? | How to become IAS IPS I full form | Indian Administrative Service

दोस्तों UPSC की परीक्षा हमारे देश की सबसे बड़ी और दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती है जिसमें IAS (भारतीय प्रशासनिक सेवा),IPS (भारतीय पुलिस सेवा) व IFS (भारतीय विदेश सेवा) जैसे सबसे ऊंचे व सम्मानित पद शामिल होते हैं इसलिए भारत के ज्यादातर अभ्यर्थियों का सपना होता है कि वे IAS, IPS बनकर देश की सेवा कर सके और एक बड़ा मुकाम हासिल कर सके। ऐसे में देश के ज्यादा प्रतिशत अभ्यर्थी इस परीक्षा की तैयारी करते हैं और हर साल इस परीक्षा का आयोजन किया जाता है जिसमें लाखों अभ्यर्थी शामिल होते हैं।

अगर आप भी आईएएस और आईपीएस बनने का सपना देखने वाले युवाओं में से एक हैं तो सबसे पहले आपको इस परीक्षा संबंधी संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए जिससे आपको तैयारी में मदद मिल सके। आप तक इस परीक्षा से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी पहुंचाने के लिए हमने यह लेख तैयार किया है इसलिए आप इस पोस्ट को जरूर पढ़ें।

IAS, IPS Exam details | आईएएस और आईपीएस कैसे बनें ?

देश को चलाने में आईएएस और आईपीएस की महत्वपूर्ण भूमिका होती है इस प्रकार ये देश की सबसे प्रतिष्ठित पोस्ट होती है। वास्तव में आईएएस आईपीएस की परीक्षा बहुत ही कठिन परीक्षा होती है जिसे पास कर पाना हर किसी के वश की बात नहीं लेकिन वहीं हर साल कुछ युवा इस परीक्षा को पास कर आईएएस आईपीएस की उपाधि हासिल कर लेते हैं ये वही युवा होते हैं जिन्होंने अपना सारा समय परीक्षा की तैयारी में झोंक दिया होता है और बिना हार मानने कठिन परिश्रम, कौशल व प्रतिभा के साथ इस परीक्षा को उत्तीर्ण किया होता है। चलिए जानते हैं क्या है यूपीएससी परीक्षा और कैसे इसकी तैयारी कर सकते हैं।

Indian Administrative Services or IAS IPS परीक्षा क्या है?

IAS (Indian Administrative Services/भारतीय प्रशासनिक सेवा), IPS (India Police Services/भारतीय पुलिस सेवा) Officer Exam एक सिविल सर्विस परीक्षा(CSE) होती है जो भारतीय सेवाओं में से एक है। ये परीक्षा देश में हर वर्ष Union Public Service Commission, UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) की ओर से आयोजित कराई जाती है। अगर आप भी एक आईएएस और आईपीएस बनना चाहते हैं तो आपको यह परीक्षा पास करनी होगी। इसमें आपको तीन चरणों की परीक्षा से होकर गुजरना पड़ता है पहला चरण है प्रीलिम्स, दूसरा है मेंस और तीसरा है इंटरव्यू। एक चरण पास करने पर ही आपको अगले चरण की परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जाएगा। यूपीएससी परीक्षा पास करने के अलावा आप State PSC परीक्षा पास करके भी आईपीएस ऑफिसर बन सकते हैं। स्टेट लेवल के इस एग्जाम को पास कर लेने के बाद एसपी बनने में 8 से 10 साल तक का समय लगता है।

आईएएस और आईपीएस बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता (Qualification)

देश का कोई भी उम्मीदवार जिसने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम से स्नातक यानी ग्रेजुएशन (बैचलर डिग्री) किया हो वह इस परीक्षा के लिए आवेदन करने योग्य होगा।
इसके अलावा जो अभ्यर्थी उम्मीदवार स्नातक के अंतिम वर्ष में है उन्हें भी इस परीक्षा के लिए आवेदन करने की अनुमति प्रदान की गई है।

IAS IPS Kaise bane

आवेदन के लिए आयु सीमा (Age Limitation)

  • जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा कम से कम 21 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष होनी चाहिए।
  • ओबीसी कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा कम से कम 21 और अधिकतम 35 वर्ष होनी चाहिए।
  • एससी या एसटी कैटेगरी के अभ्यर्थियों के लिए आयु सीमा कम से कम 21 वर्ष एवं अधिकतम 37 वर्ष होनी चाहिए।

शारीरिक योग्यता (Physical Eligibility)

आपको बता दें आईएएस पोस्ट के लिए किसी भी योग्य अभ्यर्थी को शारीरिक पात्रता की आवश्यकता नहीं पड़ती। इसमें ना तो कद का, ना वजन का और ना ही आंखों की रोशनी चेक की जाती है इसलिए आपको आईएएस बनने के लिए केवल यूपीएससी परीक्षा को पास करके अच्छी रैंक प्राप्त करनी होगी।

हालांकि इसके लिए उम्मीदवार का मेडिकल टेस्ट कराया जाता है जो कि सिर्फ उसके बारे में अधिक जानकारी जुटाना के उद्देश्य से किया जाता है। वहीं आईपीएस पोस्ट के लिए शारीरिक पात्रता को भी पूरा करना होता है। आईए जानते हैं आईपीएस पोस्ट के लिए क्या शारीरिक मानदंड निर्धारित किया गया है।

आईपीएस पद के लिए शारीरिक मानदंड:-
  • जनरल कैटेगरी के उम्मीदवार पुरुषों की आवश्यक लंबाई कम से कम 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • एससी/एसटी/ओबीसी वर्ग के 160 सेंटीमीटर हाईट वाले उम्मीदवार भी इसमें आवेदन कर सकते हैं।
  • जनरल कैटेगरी की उम्मीदवार महिलाओं की आवश्यक लंबाई कम से कम 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • वहीं एससी/एसटी/ओबीसी वर्ग वाली 145 सेंटीमीटर हाईट वाली महिलाएं भी इसके लिए आवेदन कर सकती है

चेस्ट (सीना/छाति) –

पुरुषों का सीने कम से कम 84 सेंटीमीटर होना चाहिए।
महिलाओं की छाती कम से कम 79 सेंटीमीटर होनी चाहिए।

दृष्टि – स्वस्थ आंखों का विजन 6/6 या 6/9 होना चाहिए, तो वहीं कमजोर आंखों का विजन 6/12 या 6/9 होना चाहिए।

तीन चरणों में होता है परीक्षा का आयोजन

आईएएस आईपीएस की परीक्षा तीन चरणों में कराई जाती है:-
• पहला – Preliminary/Prelims (प्रारम्भिक परीक्षा)
• दूसरा – Mains (मुख्य परीक्षा)
• तीसरा – Interview (साक्षात्कार)

Prelims Exam

आपको बता दें आईएएस और आईपीएस इन दोनों परीक्षाओं में प्रारंभिक परीक्षा यानी Prelims Exam में एक सामान्य अध्ययन पेपर 1 और सामान्य अध्ययन पेपर 2 होता है हालांकि मुख्य परीक्षा यानी mains exam का सिलेबस अलग-अलग होता है। आईएएस में प्रशासन और शासन संबंधी पेपर शामिल होते हैं जबकि आईपीएस में कानून प्रवर्तन से संबंधित पेपर आते हैं।

Mains

प्रीलिम्स पास करने के बाद ही मेंस एग्जाम में बैठा जा सकता है। मुख्य परीक्षा में चार GS Paper होते हैं जिसमें से एक पेपर ऑप्शनल का होता है इसके अंदर दो पेपर होते हैं दूसरा पेपर निबंध का होता है और तीसरा पेपर इंग्लिश(अंग्रेजी) और क्षेत्रीय भाषा का होता है।

Interview

मेंस एग्जाम के 7 पेपर व इंटरव्यू के अंकों (दोनों) को मिलाकर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है। आपको बता दे इंटरव्यू 275 अंकों का होता है यानी यह परीक्षा कुल मिलाकर 225 अंकों की होती है।

ऐसे करें UPSC Exam की तैयारी

अगर आप आईएएस की तैयारी कर रहे हैं तो इसके लिए आपको शैक्षणिक योग्यता की परीक्षा पास करनी होगी लेकिन जो आईपीएस बनना चाहते हैं उन्हें शैक्षणिक के साथ-साथ शारीरिक परीक्षा का भी ध्यान रखना होगा।

इस परीक्षा के लिए कड़ी मेहनत के साथ-साथ आपको सही स्ट्रैटेजी और टाइम मैनेजमेंट पर भी आपको ध्यान देना होगा।

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए आपको करंट अफेयर्स एवं जनरल अवेयरनेस का ज्ञान होना सबसे जरूरी है क्योंकि इस परीक्षा में लगभग 30 से 40 सवाल करंट अफेयर्स के और जनरल नॉलेज के एक पेपर में पूछे जाते हैं इसलिए आपको रोजाना समाचार पत्र, करण्ट अफेयर्स एवं मैगजीन आदि पढ़ना बेहद जरूरी है।

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करने के लिए अपनाएं ये टिप्स

• सबसे पहले स्टडी के लिए स्ट्रेटजी बनाएं।
• इसके बाद परीक्षा संबंधी सभी जानकारी इकट्ठी करें।
• परीक्षा के सिलेबस को अच्छे तरीके से देखें और समझें।
• अपना एक टाइम टेबल तैयार करें जिसमें आपको रोजाना 5 से 6 घंटे पढ़ाई करनी है।
• रोजाना न्यूज़ पेपर, करंट अफेयर्स और मैगजीन आदि पढ़े।
• एनसीईआरटी की पुस्तक से अध्ययन करें।
• पढ़ाई के साथ लिखने व नोट्स बनाना शुरू करें।
• हर वर्ष आने वाले बजट का एनालिसिस करें।
• बीते वर्षों के क्वेश्चन पेपर को सॉल्व करें और नियमित रूप से मॉक टेस्ट दें।
• नियमित रूप से नोटिस का रिवीजन करें।

UPSC Prelims Exam Pattern

Paper 1 GS – भारतीय इतिहास, भारतीय राजनीति, अर्थशास्त्र, भारत और विश्व का भूगोल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी समसामयिक मामले और पर्यावरण पर आधारित प्रश्न इत्यादि

Paper 2 GS – रीजनिंग एप्टीट्यूड और और क्वांटिटेटिव पर आधारित प्रश्न
पेपर की लैंग्वेज – हिंदी, इंग्लिश

Exam Duration – दोनों पेपर के लिए कुल 4 घंटे का समय यानी प्रत्येक पेपर के लिए 2 घंटा

Questions – GS Paper 1 में 100 प्रश्न पूछे जाते हैं जबकि GS Paper 2 में 80 प्रश्न पूछे जाते हैं।

Total Marks400 (1Paper -200 marks, 2Paper – 200 marks)

Qualifying – 2 Paper के लिए 33% अंक होना चाहिए।

अभ्यर्थी कितनी बार दे सकते हैं यह परीक्षा
  • इस परीक्षा के लिए यूपीएससी ने अटेम्प्ट तय किए हैं और उम्मीदवारों के एग्जाम अटेम्प्ट का निर्धारण उनके कैटगरी के आधार पर अलग-अलग किया गया है जो निम्न प्रकार हैं;-
  • सामान्य केटेगरी के उम्मीदवार इस परीक्षा में 6 बार शामिल हो सकते हैं।
  • ओबीसी कैटेगरी के उम्मीदवारों को 9 बार इस परीक्षा में शामिल होने का अवसर दिया जाता है।
  • वहीं एससी/ एसटी कैटेगरी के उम्मीदवार अपनी 37 वर्ष की आयु तक चाहे जितनी बार भी इस परीक्षा को दे सकते हैं उनके लिए कोई लिमिटेशन नहीं है।
Pattern of IAS, IPS Exam

प्रीलिम्स में पेपर-1 सामान्य अध्ययन और पेपर-2 सी-सैट (CSAT) का होता है जिसमें रीजनिंग व मैथ्स संबंधी सवाल पूछे जाते हैं और इसके साथ ही एक भाषा का भी पेपर होता है। उम्मीदवार इस परीक्षा (Prelims) को पास कर लेता है तब उसे Mains की परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जाता है। Mains Exam में कई विषयों के पेपर एवं दो ऑप्शनल के पेपर होते हैं।

पहले दो चरण क्वालीफाइंग प्रकृति के होते हैं। निर्धारित कटऑफ अंक प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों को ही मेंस परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जाता है।

इसके दूसरे चरण की परीक्षा यानी मेंस एग्जाम क्वालीफाई कर लेने के बाद इंटरव्यू का आयोजन किया जाता है जिसमें मेंस क्वालिफाइड अभ्यर्थियों की पर्सनैलिटी चेक की जाती है। इन तीनों चरणों को पूरा करने के बाद पदों के अनुसार एक फाइनल लिस्ट तैयार की जाती है जिसे ‘मेरिट लिस्ट’ कहते हैं। मेरिट लिस्ट में परीक्षा में सबसे अधिक अंक लाने वाले अभ्यर्थियों को आईएएस पद की उपाधि प्रदान की जाती है।

Click here for Schemes/Yojana run by Central Govt.

1 Response

  1. December 2, 2023

    […] Click here for IAS/IPS कैसे बनें ? […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *