Pradhanmantri Fasal Bima Yojana Online Registration | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना | Pradhanmantri Fasal Bima Yojana | Helpline Number | Claim

माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने अपनी सरकार के पहले कार्यकाल में किसानों की आय दोगुना करने का संकल्प लिया था। इसी संकल्प को पूरा करने और किसानों के हित के लिए देश की केंद्र सरकार समय समय पर ऐसी योजनाएं लाती है जिस से देश के किसान को लाभ मिले। कई बार प्राकृतिक आपदाओं की वजह से किसान की फसल बर्बाद हो जाती है जिससे कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है

किसानों की फसल की सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के अंतर्गत किसी भी आपदा की वजह से फसल खराब होने की स्थिति में किसान को 2 लाख तक बीमा दिया जायेगा। आज इस आर्टिकल में हम इस योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया, जरुरी दस्तावेज, पात्रता और आवेदन करने की last date, बीमा राशि क्लेम करने के बारे में विस्तार से जानेंगे।यह एक वन नेशन वन स्कीम है जिसका संचालन भारतीय कृषि बीमा कंपनी द्वारा किया जाता है। अभी इस योजना के अंतर्गत प्राकृतिक आपदा की वजह से हुए फसल नुकसान को ही शामिल किया गया है जैसे ओले पड़ना, और सूखा आना।

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana Key Points

योजना का नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
विभागएग्रीकल्चर एंड फार्मर्स वेलफेयर
लाभार्थीदेश का किसान
उद्देश्यकिसानों की फसल नुकसान की भरपाई करना
बीमाभुगतान राशि 200000 रुपये तक का बीमा
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://pmfby.gov.in

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2023

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को नरेंद्र मोदी जी ने 18 फरवरी 2016 को शुरू किया है। पहले से चली आ रही 2 योजनाओं को इस योजना से बदला गया है। मॉडिफाई एग्रो इंश्योरेंस (बीमा) योजना और नेशनल एग्रो इंश्योरेंस (बीमा) स्कीम में चल रही खामियों को नयी फसल बीमा योजना में दूर करने का प्रयास किया गया है। पहले की योजनाओं में सबसे बड़ी खामी क्लेम लेने की लम्बी प्रक्रिया थी जिसे अब सरल किया गया है।

हमारे देश के ज्यादातर किसानों की आय का मुख्य स्त्रोत खेती है। खेती से होने वाली आमदनी से ही किसान अपने परिवार का पालन पोषण करता है। ऐसे में अगर किसी आपदा के कारण फसल खराब हो जाये तो किसान की आर्थिक स्थिति भी बिगड़ जाती है और उसके परिवार के लिए दैनिक जरूरतों को पूरा करना भी मुश्किल हो जाता है।

PM Fasal Bima Yojana में किसान के द्वारा बीजी गयी फसल और उसकी आर्थिक स्थिति के आधार पर प्रीमिययम राशि निर्धारित की गयी है जोकि सामान्य से काफी कम होती है। रबी की फसल पर 1.5 %, खरीफ की फसल पर 2% और बागवानी की फसल के लिए 5% बीमा की प्रीमियम राशि रखी गयी है। इस योजना के तहत 8800 करोड़ रुपये का बजट केंद्र सरकार ने निर्धारित किया है।

पीएम फसल बीमा योजना की मुख्य एवं अहम जानकारियां

प्रधानमंत्री की इस योजना का प्रमुख उद्देश्य देश के किसान को बिना किसी आपदा की प्रवाह किए खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना है। जीके लिए सभी आवेदकों के पास आधार कार्ड होन्स अनिवार्य है।

  • ये योजना केवल प्राकृतिक आपदाओं की वजह से हुए फसल नुकसान पर ही बीमा कवर प्रदान करती है। इस योजना में claim ratio 88.3 प्रतिशत है।
  • पीएम फसल बीमा योजना के शुरू के 3 वर्षों में 13000 करोड़ से अधिक की प्रीमियम राशि किसानों द्वारा जमा हुई है और इसके बदले 60000 करोड़ से अधिक बीमा क्लेम प्राप्त किया गया है।
  • देश के 27 राज्यों और सभी केंद्र शासित राज्यों म इस योजना का संचालन केंद्र सरकार द्वारा किया जा रहा है।
  • इस योजना में हुए एक संशोधन के अनुसार वे प्रदेश जहां स्टेट सब्सिडी की रकम लंबे समय से नहीं दी गयी है वे इस योजना में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।
  • पैनल में मौजूद बीमा कंपनियों द्वारा प्रीमियम की राशि से प्राप्त हुई रकम में से 0.5% राशि एजुकेशन, कम्युनिकेशन और इंफॉर्मेशन के लिए खर्च होगी।

जरुरी दस्तावेज

  • किसान आईडीई कार्ड
  • आधार कार्ड, राशन कार्ड
  • बैंक खाता पासबुक फोटोकॉपी
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • खसरा नंबर के पेपर / खेत का खाता नंबर
  • ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडीई, पासपोर्ट (कोई भी एड्रेस प्रूफ)
  • अगर किराये के खेत फसल बीजी है तो खेत के मालिक की इकरार की फोटोकॉपी
  • फसल की बुआई जिस दिन की है उस दिन की तारीख

वर्ष 2022 में आवेदन की अंतिम तिथि 31 दिसंबर

2022 में फसल बीमा योजना में आवेदन करने की last date 31 दिसंबर रखी गयी है। इस योजना के तहत सरकार ने कुछ जरुरी निर्देश जारी कर दिए है। 2022-23 में योजना को कार्यन्वित करने के लिए कृषि बीमा कंपनी का चयन किया है और किसानों को ये निर्देश दिए है की जिस बैंक से उनका क्रेडिट कार्ड बना है वहां अपना फसल बुआई प्रमाण पत्र और पटवारी हल्के से जुड़ी साड़ी जानकारी जमा करें। इसके अतिरिक्त अऋणी किसानों के लिए भी निर्देश जारी हुए है की वे शीघ्र अपने बैंक जाएं और अंतिम तिथि की प्रतीक्षा ना करते हुए अपने फॉर्म जमा करें।

सरकार द्वारा किसानों से ये अनुरोध किया गया है की वे अपनी फसल का बीमा जरूर करवाएं ताकि फसल का नुकसान होने की स्थिति में नुकसान की भरपाई हो सके और किसान को किसी प्रकार की आर्थिक समस्या का सामना ना करना पड़े।

प्रीमियम दर को युक्तिसंगत बनाने के लिए संशोधन

इस योजना क अंतर्गत जादा से जादा किसानों को जोड़ने के लिए और फसल के प्रीमियम को युक्तिसंगत बनाने के लिए केंद्र सरकार योजना में कुछ संशोधन लाने जा रही है जिससे योजना में सुधार आएगा। कुछ संकेतों के अनुसार जून जुलाई 2023 – 24 वर्ष में केंद्रीय मंत्रिमंडल की स्वीकृति के बाद कुछ महत्वपूर्ण संशोधन किये जा सकते है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 में बीमा कंपनियों की भागीदारी को घटते देख इस योजना में बदलाव की आवश्यकता महसूस हुई है। बीमा कंपनियों की भागीदारी से प्रतिस्पर्धा कम हो रही है जिससे मौजूदा बीमा कंपनी ज्यादा प्रीमिययम वसूल रही है। साल 2019 से 2023 तक के लिए 18 बीमा कंपनियों को शामिल किया गया था पर इनमें से 8 कंपनियां योजना से बाहर हो गयी और जो कंपनी बची रही वे ज्यादा प्रीमियम दर लेने लगी जिस कारण पिछले साल फसलों के नुकसान के लिए कम किसानों ने दवा किया और कंपनियों को अधिक मुनाफा हुआ।

PMFBY 2022 में बीमा कंपनियों को ज्यादा फायदा हो रहा था और किसानो को कम लाभ था। इसलिए इस योजना के अंतर्गत ली जाने वाली प्रीमियम राशि को युक्तिसंगत बनाना आवश्यक हो गया है।

रबी फसलों का पंजीकरण 31 december last date

रबी की फसलों के पंजीकरण की अंतिम तिथि 31 december 2022 निर्धारित की गयी है। अगर कोई किसान अपनी फसल का प्रीमियम नहीं करवाता है तो उसे संबंधित बैंक में कम से कम 1 हफ्ते पहले लिखित में देना होगा। अगर किसी किसान को अपनी बीमित फसल बदलना है तो उसे लास्ट डेट से कम से कम 2 दिन पहले अपनी बैंक लिखित में देना होगा।

रबी फसलों में गेंहू की प्रीमियम राशि 425 रुपये, सरसों की 286.6 रुपये, सूरजमुखी की 277.88 रुपये, जो की 277.88 रुपये और चने क प्रीमियम दर 212.50 रुपये प्रति एकड़ निर्धारित की गयी है।

साल 2022 में खरीफ की फसलों के पंजीकरण की अंतिम तिथि 31 July 2022 थी और इस खरीफ की फसलों में धान की लिए प्रीमियम दर 741 रुपए, मूंग की 326 रुपए, कपास के लिए 1798 रुपए, बाजरे की राशि 348.70 रुपए और मक्का की प्रीमियम राशि 370.51 रुपए प्रति एकड़ निर्धारित की गयी थी।

Click here for प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि

पोस्ट ऑफिस से भी कर सकेंगे आवेदन

इस योजना को सरल बनाने और अधिक से अधिक किसानों को योजना का लाभ पहुँचाने के लिए केंद्र सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। इसी संदर्भ में अब एक नया अपडेट यह ही की किसान अब पोस्ट ऑफिस जा कर भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकेंगे।

ग्रामीण इलाकों में ज्यादातर किसानों की पहुंच पोस्ट ऑफिस तक होती है और ऐसे में अगर किसान अपने नजदीकी डाक विभाग में इस योजना के लिए आवेदन कर सके तो उन्हें काफी आसानी होगी। पोस्ट ऑफिस से आवेदन करने की इस सुविधा को सरकार एक अभियान की तरह आगे बढ़ा रही है। अभी तक 800 से ज्यादा किसानों ने पोस्ट ऑफिस के माध्यम से इस योजना में आवेदन किया है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत फसलें और किसानों की कवरेज

  • फसल बीमा योजना के अंतर्गत शामिल क्रॉप – ऑयल सीड्स, फूड क्रॉप, परेनियल हॉर्टिकल्चर / कमर्शियल क्रॉप्स, एनुअल कमर्शियल / एनुअल हॉर्टिकल्चर क्रॉप्स।
  • देश के सभी राज्यों के और हर वर्ग के किसान इस योजना में पंजीकरण कर सकते है पर बीमित फसल के लिए बिना योग्य होना जरुरी है।
  • अधिसूचित फसलों की बिजाई करने वाले अधिसूचित क्षेत्र के किश्तकार एवं बटाईदार किसान भी इस योजना में शामिल है।
  • किसानों को इस योजना में आवेदन करने के लिए अभी जरुरी दतावेज जमा करवाने होंगे और किसानों को अपनी फसल के बारे में एक घोषणा पत्र जमा करना होगा।

रिस्क कवरेज

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत फसलों को बेमौसमी बारिश, आंधी, तूफान, सूखा और बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं से हुए नुकसान से सुरक्षा प्रदान की जाती है। इसके लिए किसानों को कम दर पर फसल बीमा प्रदान किया जाता है। अब तक 49 लाख से अधिक किसानों के बैंक खाते में लागबां 7618 करोड़ का भुगतान किया गया है जिसमें सबसे ज्यादा किसान बैतूल जिले से है।

इस योजना में प्रकृतिक आपदा से हुए फाए नुकसान में ही बेसिक कवर दिया जायेगा। बेसिक कवर के अतिरिक्त किसान ऐडऑन कवरेज का ऑप्शन भी ले सकते है जिसके तहत निचे लिखे गए रिस्क कवर शामिल है।

  • वाइल्ड एनिमल अटैक
  • पोस्ट हार्वेस्ट लॉसेस
  • मिड सीजन एडवर्सिटी
  • लोकल कैलेमिटीज
  • जर्मिनेशन रिस्क/प्लांटिंग/प्रिंटेड सोइंग

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana Premium


फसल प्रीमियम राशि प्रति एकड़
धान 713.99 रुपये
मक्का 356.99 रुपये
बाजरा 335.99 रुपये
कपास 1732.50 रुपये
गेहूं 409.50 रुपये
जौ 267.75 रुपये
चना 204.75 रुपये
सरसो 275.63 रुपये
सूरजमुखी 267.75 रुपये

बीमा क्लेम में प्रदान की जाने वाली राशि

फसल बीमित राशि प्रति एकड़
धान 35699.78 रुपये
मक्का 17849.89 रुपये
बाजरा 16799.33 रुपये
कपास 34650.02 रुपये
गेहूं 27300.12 रुपये
जौ 17849.89 रुपये
चना 13650.06 रुपये
सरसो 18375.17 रुपये
सूरजमुखी 17849.89 रुपये

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

  • पीएम फसल योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे पहले आप ऑफिसियल वेबसाइट पर जाये।

Fasal-PM-Bima-Yojana-registration

  • ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको वेबसाइट पर फॉर्म भरना है। इसके लिए सबसे पहले रजिस्ट्रेशन के ऑप्शन पर क्लिक करे और फॉर्म में पूछी हुई जानकारी दर्ज करे और Submit के बटन पर क्लिक करे।
  • आपको अब अपना अकाउंट आईडीई और पासवर्ड मिल जायेगा जिसकी मदद से आप अपना अकाउंट लॉगिन कर सकते है।
  • पंजीकरण होने के बाद आपको अपने अकाउंट को लॉग इन करना होगा। लॉग इन करने के बाद ही आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए फॉर्म भर सकेंगे।

ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

  • ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आप अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस जा सकते है जीके बारे में हम आर्टिकल में पहले बता चुके है।
  • इसके अतिरिक्त आप इस योजना के पैनल में सम्मलित नजदीकी बीमा कंपनी भी जा सकते है।
  • इस प्रक्रिया में सबसे पहले कृषि विभाग जा कर पीएम फसल बीमा योजना में आवेदन करने का फॉर्म लेना होगा।
  • अब आपको फॉर्म में पूछी हुई जानकारी भरनी है और सारे दस्तावेज फॉर्म के साथ अटैच करना है।
  • अब इसे कृषि विभाग में जमा करना है और साथ ही प्रीमियम राशि जमा करनी है।
  • आपको अब एक रेफरेंस नंबर मिलेगा जिसकी मदद से आप अपने आवेदन का स्टेटस चेक कर सकेंगे।

फसल नुकसान होने पर योजना का लाभ कैसे प्राप्त करें

किसी प्राकृतिक आपदा के कारण अगर किसान की फसल को नुकसान हुआ है तो वह प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत अपनी बीमित फसल का क्लेम ले सकता है। इसके लिए निचे बताई गयी प्रक्रिया को फॉलो करे।

  • सबसे पहले बीमा कंपनी या फिर कृषि विभाग में एग्रीकल्चर ऑफिसर के पास जाये। आपको फसल खराब होने के 72 घंटों के भीतर यहां जा कर अपने नुकसान की जानकारी देनी होगी।
  • आपको फसल खराब होने की तिथि और समय के बारे में बताना है और साथ ही फसल की फोटो भी प्रदान करनी है।
  • मोबाइल पर क्रॉप इंश्योरेंस ऐप के जरिये भी आप ये प्राथमिक जानकारी दर्ज करवा सकते है। इसके अतिरिक्त फार्मर कॉल सेंटर पर टोल फ्री नंबर 18001801551 पर भी संपर्क कर सकते है।
  • इंश्योरेंस कंपनी अगले 72 घंटे के अंदर नुकसान का जायजा लेने के लिए एक अफसर नियुक्त करेगी जो अगले 10 दिनों के अंदर फसल को हुए नुकसान का पूरा आकलन करके इंश्योरेंस कंपनी में जमा करेगा।
  • सारी प्रक्रिया पूरी होने पर 15 दिनों के भीतर बीमा क्लाइन की राशि सीधे किसान के बैंक खाते में पहुंचा दी जाएगी।
Pradhanmantri Fasal Bima Yojana Insurance Company Helpline Number

इंश्योरेंस कंपनी का नाम – टोल फ्री नंबर

AGRICULTURE INSURANCE COMPANY – 1800116515

BAJAJ ALLIANZ GENERAL INSURANCE CO. LTD – 18002095959

BHARTI AXA GENERAL INSURANCE COMPANY LTD. 18001037712

CHOLAMANDALAM MS GENERAL INSURANCE – 18002005544

FUTURE GENERALI INDIA INSURANCE CO. LTD – 18002664141

HDFC ERGO GENERAL INSURANCE CO. LTD. – 18002660700

ICICI LOMBARD GENERAL INSURANCE CO. LTD – 18002669725

IFFCO TOKIO GENERAL INSURANCE CO. LTD – 18001035490

NATIONAL INSURANCE COMPANY LIMITED – 18003450330

NEW INDIA ASSURANCE COMPANY – 18002091415

ORIENTAL INSURANCE – 1800118485

RELIANCE GENERAL INSURANCE CO. LTD – 1800 102 4088

ROYAL SUNDARAM GENERAL INSURANCE CO. LIMITED – 18005689999

SBI GENERAL INSURANCE – 1800 22 1111

SHRIRAM GENERAL INSURANCE CO. LTD – 180030030000

TATA AIG GENERAL INSURANCE CO. LTD – 18002093536

UNITED INDIA INSURANCE – 180042533333

UNIVERSAL SOMPO GENERAL INSURANCE – 18002005142

दोस्तों Pradhanmantri Fasal Bima Yojana 2022 – 2023 के इस आर्टिकल में हमने आपको योजना से संबंधित आवेदन की प्रक्रिया, पात्रता, दस्तावेज, क्लेम लेने की प्रक्रिया और आवेदन करने की अंतिम तिथि जैसी सारी जानकारी विस्तार में देने का प्रयास किया है। अगर आप एक किसान है तो आप जरूर इस योजना में आवेदन करे और बिना किसी तनाव के फसल की बुआई करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *